रामनाथ कोविंद का जीवन परिचय : Biography in Hindi

2
ram nath kovind jiwan parichay
ram nath kovind jiwan parichay

Contents

रामनाथ कोविंद का जीवन परिचय : जीवन

NDA से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार घोषित किये गए बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद का उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर से बहुत ही गहरा नाता है. रामनाथ कोविंद का जन्म कानपूर देहात जिले के डेरापुर के एक छोटे से गाँव परौंख में 1 अक्टूबर 1945 को हुआ था. इनके माता का नाम श्रीमती फूलमती और पिता का नाम मैकूलाल था. आप अपने पांच भाइयों में सबसे छोटे थे. श्री कोविंद जी का विवाह 30 मई 1974 को हुआ था. आपकी पत्नी का नाम सरिता देवी है जो जो टेलीफोन विभाग में कार्यरत थी.

ram nath kovind jiwan parichay
ram nath kovind jiwan parichay

Ramnath kovind Biography in Hindi :

प्रारंभिक शिक्षा :
रामनाथ कोविंद जी की प्रारंभिक शिक्षा संदलपुर के गाँव खानपुर परिषदीय प्रारंभिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालय से हुई. इसके बाद वह कानपुर पढाई करने के लिए गए जहाँ उन्होंने कानपुर के BNSD inter college चुन्नीगंज से हाईस्कूल व इंटर की पढाई पूरी की. जिसके बाद आपने DAV college से बी.कॉम किया. इसके बाद डीसी लॉ कॉलेज से वकालत की पढाई करने के बाद दिल्ली पढाई करने चले गए. दिल्ली में रह कर सिविल सर्विसेज के तीसरे प्रयास में ही आईएस की परीक्षा पास की लेकिन मुख्य सेवा के बजाये एलायड सेवा में चयन होने पर नौकरी छोड़ दी.

करियर की शुरुआत :

आपातकाल के बाद जून 1975 में उन्होंने दिल्ली हाईकोर्ट में वकालत से करियर की शुरुआत की. 1977 में जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद रामनाथ कोविंद तत्कालीन प्रधान मंत्री श्री मोरार जी देसाई के निजी सचिव बने.

राजनैतिक करियर की शुरुआत :

मोरार जी देसाई के निजी सचिव बनने के बाद वह भाजपा नेतृत्व के संपर्क में आये. श्री कोविंद को भारतीय जनता पार्टी ने 1990 में घाटमपुर लोकसभा का टिकट दिया लेकिन वह चुनाव हार गए. 1993 व 1997 में पार्टी ने उन्हें प्रदेश से दो बार राज्यसभा भेजा. इसके बाद 2007 में कानपुर देहात की भोगनीपुर लोकसभा से चुनाव लादे लेकिन हार गए. रामनाथ कोविंद इसके पूर्व प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत बाजपेयी के साथ महामंत्री भी रह चुके है.

रामनाथ कोविंद जी के जीवन के महत्वपूर्ण क्षण :

  • रामनाथ कोविंद के जीवन का सबसे महत्वपूर्ण क्षण अगस्त 2015 को आया जब वह बिहार के राज्यपाल घोषित किये गए. वे बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता, बीजेपी के दलित मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और अखिल भारतीय कोरी समाज के अध्यक्ष भी रहे है.

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY