विराट कोहली जीवन परिचय : Virat Kohli Biography In Hindi

0
विराट कोहली जीवन परिचय
विराट कोहली जीवन परिचय

विराट कोहली जीवन परिचय : विराट कोहली का जन्म 5 नवंबर 1988 को देश की राजधानी दिल्ली मैं हुआ। उनकी माता का नाम सरोज कोहली तथा पिता का नाम प्रेम कोहली है। इनके अलावा विराट कोहली की एक बड़ी बेहेन और एक बड़ा भाई भी है। विराट कोहली ने विशाल भारती स्कूल मैं अपनी शिक्षा ग्रहण की। विराट कोहली का जीवन संघर्षो से भरा हुआ रहा है। उनका जीवन किसी के लिए भी प्रेरणा दायक औषधि के रूप मैं काम करेगा । वह सफलता की जीती जागती मिसाल है।

Virat Kohli Biography In Hindi || विराट कोहली जीवनी ||  विराट कोहली जीवन परिचय

Virat Kohli Biography In Hindi
Virat Kohli Biography In Hindi

विराट कोहली जीवन परिचय : Virat Kohli Biography In Hindi

उनके पिताजी स्व. श्री प्रेमजी कोहली पेशे से एक वकील थे। उनकी मृत्यु 2006 मैं हो गयी थी। उस समय विराट कोहली की उम्र मात्र 18 वर्ष के आसपास थी। पिताजी को खोने के बाद विराट कोहली ने सफलता के नए आयामों को छुआ है। शायद ये उनका तरीका है अपने पिताजी को सम्मान देने का। आज वो न की देश के बल्कि दुनिया सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़ माने जाते है। उनकी तुलना दुनिया के बड़े बड़े महान बल्लेबाजों से की जाती है। ये सब विराट कोहली के परिश्रम और लगन की वजह से ही है।

क्रिकेट कैरियर की शुरुआत : Virat Kohli Biography

विराट कोहली का क्रिकेटिंग कैरियर यूँ तो जब वो 3 साल के थे और उन्होनें पहली बार बैट अपने हाथों मैं थामा था तभी से हो गया था पर उनको सही मायने मिले सन् 2002 मैं ।
सन् 2002 मैं विराट कोहली को पहली बार दिल्ली की अंडर-15 टीम मैं सम्मिलित किया गया। इसी वर्ष विराट कोहली ने आओनी टीम के लिए सर्वाधिक रन बनाये थे। जिससे खुश होकर उनको अगले सत्र के लिए टीम का कप्तान घोषित कर दिया गया था। ये उनके जीवन की पहली कामयाबी थी । वर्ष 2004 मैं उनको दिल्ली क्रिकेट टीम की अंडर 17 टीम का सदस्य बना लिया गया था। टीम मैं शामिल किये जाने के अगले साल उन्होनें विजय मर्चेंट ट्राफी मैं 7 मैचों मैं 757 रन बनाये थे। इसके साथ ही उन्होनें सर्वाधिक रन बनाने का रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया था। उनका एवरेज उस ट्राफी मैं 84.11 का था।

वर्ष था 2006 । इसी साल विराट कोहली को भारत की अंडर 19 टीम मैं शामिल किया गया । उन्होनें इंग्लैंड के विरुद्ध अपनी पहली अंडर 19 श्रृंखला खेली । इसके बाद उन्होनें पाकिस्तान के विरुद्ध अपनी दूसरी अंडर 19 श्रृंखला मैं अच्छा प्रदर्शन किया । जिसकी बदौलत उनको अंडर 19 टीम का एक स्थायी सदस्य बना लिया गया ।

विराट कोहली ने अपना पहला फर्स्ट क्लास मैच 2006 मैं दिल्ली की टीम के लिए तमिलनाडु के विरुद्ध खेला था। इसी वर्ष उनके पिताजी की मृत्यु की खबर सुनने के बाद भी वो कर्नाटक के खिलाफ अपना मैच खेलते रहे । मैच के बाद वो सीधे अपने पिता के अंतिम संस्कार के लिए गए। इसमें उन्होनें 90 रन बनाये थे ।

अंडर 19 टीम के कप्तान : Virat Kohli Biography

सन् 2008 मैं उनको भारत की अंडर 19 टीम का कप्तान बना दिया गया । इसी वर्ष उनको होने वाले अंडर 19 वर्ल्ड कप मैं भारत की कप्तानी करनी थी। उन्होनें उनको कप्तान बनाने के फैसले को सही साबित करते हुए मलेशिया मैं हुए सन्2008 के अंडर 19 क्रिकेट वर्ल्ड कप को भारत को जिताया। इससे पहले उनको सिर्फ एक अच्छा बल्लेबाज समझा जाता था पर अंडर 19 वर्ल्ड कप जिताने के बाद उनकी एक और प्रतिभा सामने आई।

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण : विराट कोहली जीवन परिचय

इतनी प्रतिभा होने के बाद भी विराट कोहली को अपना प्रथम अंतर्राष्ट्रीय मैच खेलने के लिए काफी इंतज़ार करना पड़ा। सन् 2009 मैं जब सचिन और सेहवाग श्रीलंका के विरुद्ध चल रही श्रृंखला मैं घायल हो गए थे । तो उनकी जगह पर विराट कोहली को भारत देश से खेलने का मौका मिला। अपने पहले मैच मैं ज्यादा कोई शानदार प्रदर्शन नहीं कर सके थे विराट कोहली। श्रृंखला के चौथे मैच मैं उन्होनें एक अर्धशतकीय पारी खेली और टीम को जीतने मैं मदद की। उनका पहला अर्धशतक उनके चौथे मैच मैं आया। भारत की उस सीरीज मैं विजयी हुयी।

विराट कोहली का पहला शतक : विराट कोहली जीवन परिचय

कोहली के क्रिकेट कैरियर का पहला शतक आया श्रीलंका के विरुद्ध । सन् 2009 मैं श्रीलंका के विरुद्ध चल रही सीरीज मैं युवराज पूर्णतः फिट नहीं थे तो चौथे मैच मैं उनकी जगह विराट कोहली को टीम मैं लिया गया और उन्होनें अपने चुनाव को सही ठहराते हुए शतक जमाया। उन्होनें इस मैच मैं 111 बॉल मैं 107 रन की शानदार पारी खेली। इसी मैच मैं उन्होनें गौतम गंभीर के साथ तीसरे विकेट के लिए 224 रन की पार्टनरशिप की। इस मैच मैं गौतम गंभीर ने 150 रन बनाये थे जिसकी वजह से उनको मन ऑफ़ द मैच अवार्ड मिला और उन्होनें वो अवार्ड विराट कोहली के साथ साझा किया। इसके बाद कोहली टीम मैं रेगुलर होते चले गए।

कोहली 2011 वर्ल्ड कप में  : विराट कोहली जीवनी

2011 क्रिकेट वर्ल्ड कप मैं कोहली ने पहले ही मैच मैं बांग्लादेश के खिलाफ शानदार 100 रन की पारी खेली । इस शतक के साथ ही वो पहले भारतीय बल्लेबाज बन गए जिसने वर्ल्ड कप के पदार्पण मैच मैं शतक मारा हो। इसके बाद उन्होनें वर्ल्ड कप मैं वेस्ट इंडीज के विरुद्ध एक अर्ध शतक और लगाया और फाइनल मैं श्रीलंका के खिलाफ गौतम गंभीर के साथ 83 रन की पार्टनरशिप की । गौतम गंभीर , धोनी और कोहली के शानदार प्रदर्शन की वजह से भारत फाइनल मैं 6 विकेट से विजयी होती है ।

वर्ल्ड कप के बाद ; 2012 एशिया कप मैं विराट कोहली को भारत का उपकप्तान बनाया गया। इसी श्रृंखला मैं विराट कोहली ने 183 रन बना कर एक नया रिकॉर्ड बनाया।

विराट कोहली के कैरियर से जुड़े तथ्य :

विराट कोहली ने अब तक कुल 194 एकदिवसीय मैचों मैं 55 की औसत व 91 की शानदार स्ट्राइक रेट के साथ 8587 रन बनाये है। इसके साथ ही एकदिवसीय मैचों मैं उनके नाम 30 शतक व 44 अर्ध शतक है।

विराट कोहली ने 60 टेस्ट मैचों की 101 पारियों मैं 49 की ओसत से 4658 रन बनाये है। इसके साथ ही टेस्ट मैचों मैं 17 शतक व 14 अर्ध शतक उनके नाम है। टी-20 मैं भी उनका रिकॉर्ड बहुत अच्छा है। उन्होनें 49 टी20 मैचों मैं 52 की शानदार औसत के साथ 1748 रन बनाये है। इस फॉर्मेट मैं ऐसा औसत बताता है की किस किस्म के बल्लेबाज विराट कोहली है।

इसके बाद उचाइयां बढ़ती गयी और विराट कोहली का नाम हर बच्चे बच्चे को याद हो गया । आज विराट कोहली का नाम हर वर्ग का इंसान जानता और पहचानता है । विराट कोहली ने इसके बाद कभी भी पीछे मुड़ कर नहीं देखा और आज वो भारत के सभी फॉरमैटों मैं कप्तान है। उनकी सफलता उनकी कड़ी मेहनत का एक सबूत है ।

विराट कोहली कुछ बड़ा करने के लिए ही पैदा हुए थे। जिस तरह से उन्होनें हर वक़्त अपने आप को एक बेहतर खिलाड़ी के साथ साथ एक बेहतर इंसान के रूप मैं दिखाया है हम सबको उनसे प्रेरणा लेनी चाहिए संघर्ष चाहे कितना भी कठिन क्यों न हो हमें कभी भी हार नहीं माननी चाहिए जाए जो भी हो जाए।

विराट कोहली की प्रमुख उपलब्धियां :

  • विराट कोहली 2010 में भारत की टीम मैं एकदिवसीय मैचों में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी बने।
  • विराट कोहली के नाम भारत की तरफ से सबसे तेज़ शतक लगाने का रिकॉर्ड भी है। उन्होनें मात्र 52 बॉल मैं अपना शतक लगाया था।
  • विराट कोहली एकदिवसीय क्रिकेट मैं दुनिया मैं सबसे जल्दी 7000 रन बनाने वाले खिलाड़ी है। उन्होनें मात्र 161 इनिंग्स में अपने 7000 रन बना कर a.b. डिविलियर्स का रिकॉर्ड तोडा ।
  • विराट कोहली ने अपने 25 शतक बहुत ही कम समय मैं पूरे किये। उन्होनें बड़े बड़े क्रिकेटरों से कम समय मैं यह कारनामा किया। आज उनके नाम एकदिवसीय फॉर्मेट मैं 30 शतक है।
  • रनों का पीछा करते हुए उन्होनें 16 शतक लगाये है । जो दुनिया में दूसरी पारी मैं दूसरा सर्वश्रेष्ठ है।
  • 2012 मैं उनको ICC प्लेयर ऑफ़ द इयर अवार्ड मिला।
  • 2012 मैं ही उनको पीपल चॉइस अवार्ड फॉर फेवरेट स्पोर्ट्समैन मिला।
  • 2013 मैं विराट कोहली को उनके शानदार प्रदर्शन के लिए अर्जुन पुरुष्कार मिला।

Virat Kohli Biography In Hindi || विराट कोहली जीवनी ||  विराट कोहली जीवन परिचय

LEAVE A REPLY