Vehicle Insurance kya hai : कितना जरूरी है आपके लिए

0
vehicle insurance hindi
vehicle insurance hindi

आज के लेख में जानेंगे  Vehicle Insurance kya hai ? यदि आपके पास कोई vehicle है  जैसे Car, auto, motor, bike का फिर कोई भी वाहन हो उसका insurance होना बहुत ही जरूरी है क्यूंकि दुर्घटना की स्थिति में हमें बहुत सारी परेशानियों का खामियाजा उठाना पड़ सकता है इसलिए  vehicle insurance कराना उतना ही जरुरी है जितना कि अपना खुद का बीमा कराना.

Vehicle Insurance kya hai ?

Vehicle insurance हमें किसी भी प्रकार ही दुर्घटना होने पर आर्थिक नुक्सान होने से बचाता है. यह आपके और

vehicle insurance hindi
vehicle insurance hindi

insurance company के मध्य एक contract द्वारा होता है. जिसके अंतर्गत एक एग्रीमेंट होता है जिसमे आप premium भरते है और बदले में insurance company दुर्घटना होने के स्थिति में आपको नुक्सान पूरा करती है. Auto insurance कंपनी एग्रीमेंट के अनुसार property, liability (दायित्व) and medical coverage देती है.

यह भी पढ़े :

Types of Vehicle Insurance

India में Vehicle insurance दो प्रकार का होता है एक Full Party Beema और दूसरा Third Party Beema

1.Third party insurance : इस type के insurance में यदि आपके वाहन से दुर्घटना हो जाती है और दुर्घटना के समय दुसरे वाहन के चालक, गाड़ी आदि के नुक्सान होने कि स्थिति insurance कंपनी हर्जाना देती है जबकि आपको या आपकी गाड़ी की टूट फूट के लिए कंपनी किसी भी प्रकार claim नहीं देती है. इसलिए इसे Third party Insurance कहते है. और Third party beema मोटर अधिनियम के अनुसार अनिवार्य है.

2. Standard motor insurance: इसे full party insurance भी कहते है इस प्रकार के बीमा में दुर्घटना होने पर सभी प्रकार के नुकसान जैसे की वाहन, ड्राईवर, और वाहन में बैठे लोगों यहाँ तक कि दुसरे वाहन के लोग और उनकी गाड़ी की टूट फूट और और नुकसान की भरपाई बीमा company देती है.

  • Property coverage में किसी भी प्रकार की दुर्घटना जैसे की car या auto की चोरी हो जाने या फिर वाहन के क्षतिग्रस्त हो जाने पर पैसा देती है.
  • Liability coverageशारीरिक चोट या संपत्ति के नुकसान के लिए दूसरों को अपनी कानूनी जिम्मेदारी के लिए भुगतान करता है।
  • Medical coverage चोटों, पुनर्वास और इलाज की लागत के लिए भुगतान करता है।

3. Zero deprecation or cashless car insurance: यदि आपके पास चार पहिया वाहन है तो cashless car insurance आपके लिए सर्वोत्तम रहेगा. इसे zero deprecation car insurance भी कहते है. इस प्रकार के बीमे में आपको किसी भी प्रकार की दुर्घटना होने की स्थिति में आप  insurance company द्वारा listed किसी भी car garages में बिना एक रुपया खर्च किये ही बनवा सकते है. यह प्रक्रिया बहुत तेज और आसान है. इस प्रकार के बीमा के और भी बहुत सारे फायदे है. लेकिन cashless car insurance की प्रीमियम अन्य insurance policy से 20% महंगी है. लेकिन आपको इसके फायदे भी बहुत मिलते है.

Cashless car insurance vs Standard motor insurance:

यदि आपके पास चार पहिया वाहन है तो मैं आपको cashless car insurance (zero deprecation car insurance) के लिए ही एडवाइस दूंगा. क्यूँ अन्य Type की बीमा पालिसी में दुर्घटना होने के बाद आप क्लेम करने की कार्यवाही करते है. फिर आपके नुक्सान का निरक्षण करने के लिए कंपनी सर्वेक्षक को भेजती है और फिर निरक्षक क्लेम की राशि का निधारण करता इस पूरी प्रक्रिया दौरान आपका बहुत सारा समय भी नष्ट होता है और तब आपको उस क्लेम का पैसा मिलता है. और कभी कभी सर्वेक्षक आपके नुकसान का पूरा विवरण नहीं भेजता है जिससे कि आपको अपने नुक्सान का पूरा भी नहीं मिलता.

EX. जैसे कि आप का नुक्सान 25000 रुपये का हुआ और बीमा निरक्षक को सवेक्षण के दौरान लगता है की आपकी गाडी में कोई भी एक कमी दुर्घटना से पूर्व की है ना कि accident की वजह से ऐसे में निरक्षक ने मान लीजिये मात्र 15000 रूपये का नुक्सान कंपनी को बताया तो आपको claim के रूप में मात्र 15000 रूपये ही मिलेंगे. यानी कि समय की बर्बादी के साथ साथ पैसो का भी नुकसान.

जबकि cashless car insurance में claim करने के बाद आप insurance कंपनी द्वारा प्रमाणिक car garages में अपनी गाड़ी बनवाते है तो इसमे लगने वाली पूरी की लगत बीमा कंपनी ही देती है. यानि की पूरी की पूरी मरम्मत का खर्चा बीमा कम्पनी देती है. और यह प्रक्रिया बहुत तेज होने के कारण आपका समय और पैसा दोनों की बचत है. हालाँकि ये पालिसी अन्य policy से थोड़ी महंगी जरूर लेकिन आपको सुविधा भी बहुत ज्यादा मिलती है.

LEAVE A REPLY